बगहा: कैलाशनगर में फैला पानी, रेलवे लाइन के किनारे शरणार्थी बने लोग

Bagaha Railway
Loading...

ताजा खबर पाने के लिए निचे लाइक बटन दबाये

BIHAR DESK : गंडक नदी में जलस्तर के बढ़ने के बाद नगर के कैलाशनगर में पानी घुसने के बाद के बाद वहां के लोगों ने रेल लाइन के किनारे अपना आशियाना बना लिया है. वहां पर उन्हें पानी से लेकर पशुओं के चारे तक की परेशानी हो रही है.

मौसमी बीमारी की बात करें तो अभी जिस तरह से शहर से लेकर दियारावर्ती क्षेत्रों में जलजमाव हुआ है. उन क्षेत्रों में दवा का छिड़काव नहीं कराया जाता है तो आने वाले दिनों में अधिकतर लोग संक्रमित बीमारी की चपेट में आ सकते हैं. सरकारी अस्पताल की बात करें तो अभी किसी भी अस्पताल में किसी प्रकार के मरीजों को नहीं देखा जा रहा है. कोरोना जैसे संक्रामक बीमारी के भय से अधिकतर सरकारी अस्पताल सुविधाओं के अभाव में बंद पड़े. निजी चिकित्सक भी उसके भय से जल्दी मरीज को देखना नहीं चाह रहे है.

बिजली की समस्या

लगातार हुई बारिश के बाद से सभी जगहों पर जल जमाव हो गया है. बिजली ग्रिड में भी पानी भर गया है. जिसका परिणाम है कि शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों में भी बिजली गायब रह रही है. ग्रामीण इलाकों में आपूर्ति करने में परेशानी हो रही है. तार के ऊपर कहीं पेड़ गिर जा रहा है तो कही पेड़ की डाली तार में सट जा रही है. जिससे जगह-जगह फाल्ट हो जा रहा है. यही कारण है कि ग्रामीण इलाकों में इस भीषण गर्मी में भी बिजली की आपूर्ति नहीं हो रही है.

Loading...

Mints of India an Indian E-Media Website. Here We Provide Latest Breaking News Related to Political News in Hindi with All Types of News.
x