रक्षा मंत्री द्वारा भारतीय सेनाओ को बॉर्डर पर फायरिंग की खुली इजाजत दे दी गई|

Rajnath Singh and CDS Bipin Rawat, Mintsofindia

ताजा खबर पाने के लिए निचे लाइक बटन दबाये

पिछले कुछ दिनों से भारत और चीन के बिच हालात बहुत ही बहुत ही गंभीर है| 15 जून की रात को हुए भारतीय सेनाओ और चीनी सेनाओ के बिच हुए खुनी झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हुए थे| वही चीन के करीब 50 से भी ज्यादा सेनाओ को मार गिराया गया| तो अब भारत और चीन के बॉर्डर पर हालात बहुत ही ख़राब है| और इसी बिच आज दोपहर को भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, CDS बिपिन रावत के साथ तीनो सेनाओ के प्रमुख के बिच मीटिंग हुए|

और इस मीटिंग के खत्म होने के बाद भारत के रक्षा मंत्री ने भारत चीन बॉर्डर के सेनाओ को अब फायरिंग करने की खुली छुट दे दी है| रक्षा मंत्री का कहना है की अगर बॉर्डर की दूसरी तरफ से किसी भी प्रकार की हरकते की जाति है तो सेनाये अपने पास रखे हथियारों का इस्तेमाल कर सकते है| और अपने बन्दुक से फायरिंग भी कर सकते है| अब सेनाओ को सरकार से पूछने की कोई जरूरत नही है|

मैं आपको बता दूँ की भारत और चीन के बिच एक समझौता हुआ था कांग्रेस के सरकार द्वारा किया गया था| इस समझौता के अनुसार दोनों देशो की सेनाये किसी भी प्रकार की हथियारों का इस्तेमाल बॉर्डर पर नही कर सकती है| लेकिन अब समय के बदलने के साथ साथ स्तिथि बहुत ही गंभीर हो गई है|

जिसे देखते हुए भारतीय रक्षा मंत्री द्वारा CDS बिपिन रावत के साथ मिलकर ये फैसला लिया गया| जिसमे अब से भारत चीन पर तैनात सेनाओ को हथियार इस्तेमाल करने की खुली आज़ादी दे दी गई है| साथ ही भारत-चीन बॉर्डर पर चिनूक,सुखोई और तेजस जैसे लड़ाकू विमानों को भी अधिक मात्रा में तैनात कर दिया गया| साथ ही बहुत ही बड़ी मात्रा में सेनाओ की टुकड़ी को भी लद्दाख में भेजा गया है| और कहा गया है की जरूरत पड़ी तो और भी सेनाओ को बॉर्डर पर भेजा जाएगा|

x