राशिफल 30 अगस्‍त : जानिए आज आपका राशिफल क्या कहता है? क्या है आपके भाग्य में!

aaj ka rashifal video, aaj ka rashifal navbharat times, aaj ka rashifal astroyogi, aaj ka rashifal astrosage, aaj ka rashifal prokerala, aaj ka rashifal Mints of India, aaj ka rashifal kumbh, aaj ka rashifal tula
Loading...

ताजा खबर पाने के लिए निचे लाइक बटन दबाये

ग्रहों की स्थिति-मंगल मेष राशि में हैं. शुक्र और राहु मिथुन राशि में हैं. सूर्य और बुध सिंह राशि में हैं. गुरु और केतु धनु राशि में हैं. चंद्रमा और शनि मकर राशि में हैं. मंगल मेष राशि में बने हुए हैं. शनि और चंद्रमा के योग को विषयोग कहते हैं लेे‍किन शनि चूंकि वक्री हैं इसलिए स्‍पष्‍ट विषयोग यह नहीं बनेगा. गुरु और शनि वक्री गति से चल रहे हैं. मंगल और सूर्य स्‍वग्रही चल रहे हैं. ग्रहों की स्थिति मध्‍यम बनी हुई है. चंद्रमा और शनि का कुयोग कहा जाएगा. इसकाेे स्‍पष्‍ट नहीं लेकिन अस्‍पष्‍ट विषयोग कहा जाएगा.

राशिफल-

मेष – शासन-सत्‍ता पक्ष का थोड़ा सहयोग जरूर मिलेगा आपको. लेकिन थोड़ा कठिन समय रहेगा. पैतृक सम्‍पत्ति में कुछ समस्‍या आ सकती है. पैतृक सम्‍पत्ति भी आपको अर्जित करनी पड़ती है. यह संकेत होता है आपकी राशि और लग्‍न का. स्‍वास्‍थ्‍य और प्रेम की स्थिति ठीक है. व्‍यापारिक क्षेत्र में संघर्ष करना पड़ेगा लेकिन अच्‍छा रहेगा. नीली वस्‍तुओं का दान करें.

वृषभ – जोखिम से उबर चुके हैं आप लेकिन प्रतिष्‍ठा पर कोई आंच न आने पाए इसका ध्‍यान रखिएगा. स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम, शुक्र और राहु का कुयोग चल रहा है.शुक्र लग्‍नेश हैं आपकेे. स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम, प्रेम की स्थिति ठीक है. विद्यार्थियों के लिए अच्‍छा समय है. व्‍यापारिक स्थिति भी आपकी अच्‍छी है. धीरे-धीरे आप आगे बढ़ेंगे. आप परिश्रम करना जानते हैं. परिश्रम से अर्जित कर लेंगे. घबड़ाइए मत. शनिदेव की अराधना करते रहें.

मिथुन – परिस्थितियां प्रतिकूल हैं. चोट लग सकती है. किसी परेशानी में पड़ सकते हैं. बहुत सावधानीपूर्वक चलें. हालांकि जो बचाने का मालिक है आपका लग्‍नेश वो अच्‍छी स्थिति में है. बहुत बड़ा जोखिम नहीं है फिर भी जोखिम है. प्रेम की स्थिति अच्‍छी नहीं है. संतान पक्ष पर ध्‍यान दें. आपके जीवन में जो इमोशनल कमजोरी रहती है वो इस समय और ज्‍यादा है. ध्‍यान देकर आगे चलें. व्‍यापारिक स्थिति ठीक ठाक रहेगी. पीली वस्‍तुओं का दान करें.

कर्क – सप्‍तम भाव शनि का भाव है. ऐसे भी पति-पत्‍नी की स्थिति में थोड़ी संघर्षपूर्ण स्थिति रहती है. आज के दिन चंद्रमा के होने से और शनि वहां पहले से मौजूद हैं तो थोड़ा सा व्‍यक्तिगत जीवन और नौकरी चाकरी में भी संघर्ष की स्थिति आ सकती है. यह योग ठीक नहीं है. ध्‍यान दें. उदर रोग से पीडि़त हो सकते हैं. स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा नहीं है. शरीर में नाभि से नीचे के हिस्‍से में दिक्‍कत आ सकती है. स्‍वास्‍थ्‍य,प्रेम, व्‍यापार तीनों मध्‍यम है. बचाकर चलें. भगवान शिव की शरण में बने रहें.

सिंह – शत्रु पक्ष दबाने की कोशिश करेगा लेकिन उनकी एक नहीं चल पाएगी. वे नतमस्‍तक होंगे. पैरों की परेशानी न हो ध्‍यान रखिए. हालांकि बचाव पक्ष आपका मजबूत है. इमोशनल पक्ष थोड़ा कमजोर है. बच्‍चों की सेहत पर ध्‍यान दें. प्रेम में तू-तू,मैं-मैं न करें. बच्‍चों की सेहत पर ध्‍यान दें. व्‍यापारिक दृष्टिकोण से ठीक चल रहे हैं. सूर्यदेव को जल देते रहें. पीली वस्‍तु पास रखें.

कन्‍या – भावुक होकर कोई निर्णय न लें. विद्यार्थी कोई नई शुरुआत न करें. स्‍वास्‍थ्‍य ठीक-ठाक है. लेकिन लग्‍नेश के द्वादश भाव में होने के चलते थोड़ा इम्‍यून सिस्‍टम आपका कमजोर रहेगा. प्रेम की स्थिति मध्‍यम है. व्‍यापारिक स्थिति आपकी ठीक चल रही है. आप परिस्थितियों के मुताबिक खुद को ढाल लेते हैं. आपको रहस्‍यों का ज्ञान है इसलिए परेशान होंगे भी तो निकल जाएंगे. शनिदेव की अराधना करते रहें.

तुला – घरेलू सुख बाधित है. ठीक स्थिति नहीं है लेकिन घर आपकी कमजोरी है. आपकी संवेदनशीलता आपको परेशान कर सकती है. स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम है क्‍योंकि शुक्र और राहु एक साथ हैं. प्रेम की स्थिति भी अच्‍छी नहीं क्‍योंकि शनि और चंद्रमा का अस्‍पष्‍ट विषयोग है. व्‍यापारिक स्थिति भी बहुत अच्‍छी नहीं है. आज के दिन थोड़ा सा इमोशनली और शारीरिक रूप से आप कमजोर दिख रहे हैं. बचकर पार करें. मां काली की शरण में बने रहें. शनिदेव की भी अराधना करते रहें. सब अच्‍छा हो जाएगा.

वृश्चिक – पराक्रम रंग लाएगा. वैसे भी हिम्‍मती हैं आप. रिस्‍क लेने की क्षमता रखते हैं आप. लेकिन भाई-बहन और मित्रों के स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान दें. आपका स्‍वास्‍थ्‍य ठीक है फिर भी कंधे से ऊपर नाक, कान, गला की समस्‍या हो सकती है आपको. स्‍वास्‍थ्‍य, प्रेम मध्‍यम है. व्‍यापार ठीक ठाक चलेगा. बजरंग बली की शरण में बने रहें.

धनु – मुख रोग के शिकार हो सकते हैं. बचाव पक्ष भी आपका कमजोर है क्‍योंकि गुरु वक्री है. अपनों से न उलझें. गंदी भाषा का प्रयोग न करें. कड़क मिजाज के व्‍यक्ति होते हैं आप. कड़क निर्णय लेकर किसी को अनाप-शनाप बोलेंगे,नुकसान हो जाएगा. पूंजी निवेश अभी न करें. स्‍वास्‍थ्‍य, प्रेम, व्‍यापार तीनों मध्‍यम गति से चल रहा है. प्रेम हालांकि पहले से बेहतर है. नीली वस्‍तुओं का दान करें.

मकर – हां-ना की स्थिति बनी रहेगी. नकारात्‍मकता आप पर हावी हो सकती है. इस बात का ध्‍यान रखें. बचाव पक्ष कमजोर है. प्रेम, व्‍यापार की स्थिति ठीक नहीं है. निर्णय लेने में कुशल हैं लेकिन अभी न लें. थोड़ी खराब स्थिति है. सारी स्थितियां मध्‍यम हैं. थोड़ा बचकर पार करें. मां काली की शरण में बने रहें.

कुंभ – चिंताकारी सृष्टि का सृजन हो रहा है. चंद्रमा और शनि के द्वादश भाव में जाने की वजह से मानसिक और शारीरिक रूप से आप कमजोर हो रहे हैं. थोड़ा बचकर पार करें. हालांकि आप त्‍वरित निर्णय लेकर इन सारी स्थितियों से निकल जाएंगे. फिर थोड़ा सोच-विचारकर आगे बढि़एगा. स्‍वास्‍थ्‍य और व्‍यापार दोनों मध्‍यम है. प्रेम और निर्णय लेने की शक्ति आपकी अच्‍छी है. यही आपकी खूबसूरती है. आपके व्‍यक्तित्‍व की यही सबसे बड़ी खूबी है. निर्णय लेना, सोच विचार अच्‍छा होना और कैलकुलेटिव होना. गणेश जी की शरण में बने रहें.

मीन – आर्थिक स्थिति आपकी मजबूत होती हुई दिख रही है. शुभ समाचार की प्राप्ति होगी. लेकिन यह कुछ खराब स्थिति के साथ मिल सकता है. बहुत स्‍पष्‍ट शुभ समाचार नहीं मिलेगा. स्‍वास्‍थ्‍य भी बहुत अच्‍छा नहीं है. प्रेम की स्थिति भी थोड़ी विस्‍मयकारी रहेगी. लेकिन आप परिस्थितियों को झेलना जानते हैं. इस वजह से आप निकल जाएंगे. भगवान शिव की शरण में बने रहें. उन्‍हें जल चढ़ाएं, अराधना करें. सब अच्‍छा होगा.

Loading...

x