कोरोना टीकाकरण का पूर्वाभ्यास सफल, बिहार में अब किसी भी दिन शुरू हो सकता है Covid-19 वैक्सीनेशन

बिहार में कोरोना टीकाकरण का पूर्वाभ्यास सफल रहा. ये दावा करते हुए प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि टीकाकरण को लेकर हमारी तैयारी काफी अच्छी है. वैक्सीन मिलने पर किसी भी दिन टीकाकरण शुरू हो सकता है. शनिवार को केंद्र के निर्देश पर कोरोना टीकाकरण का पूर्वाभ्यास किया गया. विश्व स्वास्थ्य संगठन
 
कोरोना टीकाकरण का पूर्वाभ्यास सफल, बिहार में अब किसी भी दिन शुरू हो सकता है Covid-19 वैक्सीनेशन

बिहार में कोरोना टीकाकरण का पूर्वाभ्यास सफल रहा. ये दावा करते हुए प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि टीकाकरण को लेकर हमारी तैयारी काफी अच्छी है. वैक्सीन मिलने पर किसी भी दिन टीकाकरण शुरू हो सकता है. शनिवार को केंद्र के निर्देश पर कोरोना टीकाकरण का पूर्वाभ्यास किया गया. विश्व स्वास्थ्य संगठन की देखरेख में राज्य में कोरोना टीकाकरण का पूर्वाभ्यास किया गया. इस पूरी प्रक्रिया को को-विन पोर्टल पर ऑनलाइन अपडेट सफलतापूर्वक किया गया.

टीकाकरण के दौरान लोगों को कई प्रक्रियाओं से गुजरना होगा

पांडेय ने कहा कि टीकाकरण के दौरान लोगों को कई प्रक्रियाओं से गुजरना होगा. इसके लिए विभाग द्वारा पूरी तैयारी की गई है. इसके लिए तीन कक्ष बनाए गए हैं. पहला प्रतीक्षा कक्ष, दूसरा टीकाकरण कक्ष और तीसरा निगरानी कक्ष होगा. टीकाकरण के बाद लोगों को 30 मिनट तक निगरानी कक्ष में रहना होगा, ताकि टीकाकरण के बाद किसी प्रकार की परेशानी होने पर वैसे लोगों का उपचार हो सके.

टीकाकरण से पहले वैसे लोगों को मोबाइल पर मैसेज भी जाएगा. उन्होंने कहा कि पूर्वाभ्यास के आधार पर ही आगे भी टीकाकरण का काम होगा. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पूर्वाभ्यास के दौरान कोशिश की गई कि जो भी दिशा-निर्देश केंद्र सरकार से दिया गया है, उसका शत-प्रतिशत पालन हो. उन्होंने इसे कोरोना से लड़ाई में एक ऐतिहासिक दिन बताया.

पटना, चंपारण और जमुई में 225 लोगों पर पूर्वाभ्यास सफल

बिहार के तीन जिलों पटना, पश्चिमी चंपारण व जमुई में अलग-अलग नौ केंद्रों पर 225 स्वास्थ्यकर्मियों के कोरोना टीकाकरण का सफल पूर्वाभ्यास किया गया. एक केंद्र पर 25 स्वास्थ्यकर्मियों को टीका दिए जाने का पूर्वाभ्यास किया गया. इसमें स्वास्थ्यकर्मी के मोबाइल पर मैसेज भेजा गया और टीका को लेकर उन्हें केंद्र पर बुलाया गया. इसके बाद टीकाकरण को लेकर केंद्र सरकार के दिशा-निर्देश के अनुरुप सामाजिक दूरी का पालन करते हुए उन्हें पहले प्रतीक्षा कक्ष में बैठने, टीकाकरण करने, फिर कोरोना टीकाकरण के बाद निगरानी कक्ष में 30 मिनट तक बैठने के साथ ही टीकाकरण का पूर्वाभ्यास किया गया.

Input – Live Hindustan

From Around the web