बिहार को मिलेगी चौथे एक्सप्रेस-वे की सौगात, इन 10 जिलों को होगा फायदा

  
Express-Way
फेसबुक पर ताजा खबरे पाने के लिए लाइक बटन दबाये!
 

बिहार न्यूज़ डेस्क: बड़ी और अच्छी खबर आ रही है बिहार के लिए, जहां हाल में ही यूपी के मुख्यमंत्री ने यूपी में एक्सप्रेस वे का शुरुआत किया. बिहार को एक और एक्सप्रेसवे की सौगात मिलने वाली है. मिली जानकारी के अनुसार यह एक्सप्रेसवे गोरखपुर से लेकर सिलीगुड़ी तक जाएगी. और इस एक्सप्रेस वे का अधिक उत्तर बिहार के विभिन्न जिलों से होकर गुजरेगी. जो सड़क उत्तर बिहार के लिए लाइफ लाइन भी साबित होगी.

इस एक्सप्रेस वे के बनाने से बिहार को यूपी और बंगाल के बीच ना केवल आवागमन आसान करेगा बल्कि व्यापार के नए रास्ते भी से खुलेंगे. वहीं केंद्र सरकार ने इस एक्सप्रेस-वे के निर्माण की सैद्धांतिक सहमति दे दी है. और अब इसके बाद पथ निर्माण विभाग में इस सड़क को साकार करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है. वही अभी तक गोरखपुर से सिलीगुड़ी के बीच कोई भी सीधी सड़क नहीं है.


इस कारण गोरखपुर से सिलीगुड़ी की दूरी तय करने में 1 दिन लग जा रहा है. जबकि प्रस्तावित गोरखपुर सिलीगुड़ी एक्सप्रेस वे से दोनों शहरों के बीच की दूरी घटकर मात्र 600 किलोमीटर से भी कम रह जाएगी. नक्शा मिली जानकारी के अनुसार छा 6-8 लेन की बनने वाली एक्सप्रेस वे में 416 किलोमीटर का रास्ता सिर्फ बिहार से होकर गुजरेगी.

यानी कि इस एक्सप्रेस-वे के निर्माण से सबसे अधिक लाभ बिहार वासियों को ही होने वाला है. एक्सप्रेस-वे के मामले में बिहार अभी काफी पीछे है. इसे देखते हुए ही बीते दिनों केंद्र सरकार ने गोरखपुर से सिलीगुड़ी के बीच एक्सप्रेस-वे बनाने का निर्णय लिया है. प्रस्तावित एक्सप्रेस-वे गोरखपुर से शुरू होकर बिहार के गोपालगंज में प्रवेश करेगी. इसके बाद सीवान, छपरा, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, सहरसा, पूर्णिया, किशनगंज होते हुए सिलीगुड़ी जाएगी. इस एक्सप्रेस-वे का पूरा हिस्सा ग्रीनफील्ड होगा. किसी पुरानी सड़क को एक्सप्रेस-वे में शामिल नहीं करने की योजना है. चूंकि एक्सप्रेस-वे पर गाड़ियों की रफ्तार 100 घंटे प्रति किमी से अधिक होती है. यह तभी संभव है जब सड़क सीधी हो.

From Around the web