RJD नेता तेजस्वी का चुनावी वादा, हमारी सरकार बनी तो 10 लाख बेरोजगार युवाओं को देंगे नौकरी

BIHAR DESK : नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने रविवार को बड़ा ऐलान किया. पार्टी कार्यालय पर पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि राज्य में हमारी सरकार बनी तो पहली ही कैबिनेट का पहला फैसला राज्य के 10 लाख युवाओं को रोजगार देने का होगा. कहा कि यह स्थायी सरकारी नौकरियां होंगी. कहा कि बिहार
  
RJD नेता तेजस्वी का चुनावी वादा, हमारी सरकार बनी तो 10 लाख बेरोजगार युवाओं को देंगे नौकरी

BIHAR DESK : नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने रविवार को बड़ा ऐलान किया. पार्टी कार्यालय पर पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि राज्य में हमारी सरकार बनी तो पहली ही कैबिनेट का पहला फैसला राज्य के 10 लाख युवाओं को रोजगार देने का होगा. कहा कि यह स्थायी सरकारी नौकरियां होंगी. कहा कि बिहार में बेरोजगारी का आलम यह है कि राजद द्वारा विगत पांच सितंबर को लांच बेरोज़गारी हटाओ पोर्टल पर अब तक नौ लाख 47 हज़ार 324 बेरोज़गार युवाओं ने सीधे और 13 लाख 11 हज़ार 626 लोगों ने टोल फ्री नंबर पर मिस्ड कॉल किया. यानि अब तक कुल 22 लाख 58 हज़ार 950 लोगों ने निबंधन किया है.

तेजस्वी यादव ने नौकरियों का खाका पेश करते हुए कहा कि बिहार में साढ़े चार लाख रिक्तियाँ पहले से ही हैं. शिक्षा, स्वास्थ्य, गृह सहित अन्य विभागों में राष्ट्रीय औसत एवं तय मानकों के हिसाब से बिहार में अभी भी 5 लाख 50 हज़ार नियुक्तियों की अत्यंत आवश्यकता है. कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानक के अनुसार प्रति 1000 आबादी पर एक डॉक्टर होना चाहिए लेकिन बिहार में 17 हज़ार की आबादी पर एक डॉक्टर है. इस हिसाब से यहां सवा लाख डॉक्टरों की जरूरत है. उसी अनुपात में सपोर्ट स्टाफ़ जैसे नर्स, लैब टेक्निशियन, फ़ार्मासिस्ट की ज़रूरत है. सिर्फ़ स्वास्थ्य विभाग में ही ढाई लाख लोगों की ज़रूरत है.

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि राज्य में पुलिसकर्मियों के 50 हजार से अधिक पद रिक्त हैं. यहां प्रति एक लाख आबादी पर सिर्फ 77 पुलिस कर्मी हैं जबकि राष्ट्रीय औसत प्रति एक लाख आबादी पर 144 पुलिसकर्मी का है. कहा कि राज्य में 1.26 लाख पुलिसकर्मी हैं जबकि 1.72 लाख पुलिसकर्मियों की जरूरत है. कहा कि अपराध नियंत्रण का दावा करने वाली सरकार पुलिसकर्मियों की नियुक्ति में आनाकानी करती है. आज तक बहाली शुरू नहीं हो पाई. कहा कि शिक्षा क्षेत्र में तीन लाख शिक्षकों की ज़रूरत है. प्राइमरी और सेकंडेरी लेवल पर ढाई लाख से अधिक स्थायी शिक्षकों की पद रिक्त है. कॉलेज और यूनिवर्सिटी स्तर पर लगभग 50 हज़ार प्रोफ़ेसर की आवश्यकता है.

जेई के 66 प्रतिशत पद खाली

उन्होंने कहा कि राज्य में जूनियर इंजीनियर के भी 66 प्रतिशत पद खाली हैं. पथ निर्माण, जल संसाधन, भवन निर्माण, ऊर्जा तथा अन्य विभागों में करीब 75 हजार अभियंताओं की जरूरत है. कहा कि इसके अलावा लिपिकों, सहायकों, चपरासी और अन्य वर्गों के लगभग दो लाख पद भरने की आवश्यकता है. कहा कि इसके अलावा उद्योग-धंधों, निवेश, पर्यटन सुधार आदि से भी बड़े पैमाने पर हमारी सरकार रोजगार सृजन करेगी. इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, विधायक भोला यादव भी मौजूद रहे.

Input – Live Hindustan

From Around the web