मुजफ्फरपुर के शरद को टोक्यो पैरालंपिक में मिला कांस्य: बचपन में ही हो गया था पोलियो

Sharad of Muzaffarpur got bronze in Tokyo Paralympics: Polio was done in childhood
 
sharad of muzaffarpur bronze medal in tokyo paralympic

BIHAR NEWS IN HINDI: खबर है बिहार के जिले मुजफ्फरपुर से, जहाँ टोक्‍यो पैरालंपिक में देश के पैरा एथलीटों ने कमाल कर दिया है. मरियप्‍पन थंगावेलु ने जहां सिल्‍वर मेडल जीता वहीं बिहार के मुजफ्फरपुर के शरद कुमार ने कांस्‍य पदक जीत लिया. मरियप्‍पन ने पुरुषों की ऊंची कूद टी 63 स्‍पर्धा में 1.86 मीटर और शरद ने 1.83 मीटर की कूद लगाई.

इसी के साथ टोक्‍यो पैरालंपिक में भारत के पदकों की संख्‍या 10 तक पहुंच गई है. इस उपलब्धि पर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने मरियप्‍पन और शरद कुमार को बधाई दी है. उन्‍होंने एक ट्वीट में लिखा-ऊंची और उंची उड़ान! मरियप्‍पन थंगावेलु निरंतरता और उत्‍कृष्‍टता के पर्याय हैं.

रजत पदक जीतने पर उन्‍हें बधाई. भारत को उनके इस कारनामे पर गर्व है. उन्‍होंने लिखा अदम्‍य! शरद कुमार ने कांस्‍य पदक जीतकर हर भारतीय के चेहरे पर मुस्‍कान ला दी है. उनकी जीवन यात्रा कई लोगों को प्रेरित करेगी. उन्‍हें बधाई. मुजफ्फरपुर के मोतिपुर के रहने वाले शरद कुमार ने पैरालंपिक में कांस्‍य जीतकर हर किसी का ध्‍यान खींच लिया है.

वह दो साल की उम्र में पोलियो ग्रस्त हो गये थे. साल-2018 में एशियन पैरा एथलीट में 1.9 मीटर हाईजम्प करके गोल्ड मेडल जीता था.

Title - Sharad of Muzaffarpur got bronze in Tokyo Paralympics: Polio was done in childhood

From Around the web