कांग्रेस को रास नहीं आया बंगाल में राजद-तृणमूल की दोस्ती, तेजस्‍वी यादव पर कांग्रेस ने कसा तंज


ताजा खबर पाने के लिए निचे लाइक बटन दबाये

MOI DESK : पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (West Bengal assembly elections) के ऐन पहले राजद (RJD) का तृणमूल (Trinamool) से दोस्ती गांठना बिहार कांग्रेस को नागवार गुजर रहा है. कांग्रेस को उम्मीद थी कि पश्चिम बंगाल में नए रिश्ते बनाने से पहले बिहार विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव कांग्रेस से इस मसले पर एक बार बात अवश्य करेंगे.

लेकिन ऐसा हुआ नहीं. तेजस्‍वी यादव ने कांग्रेस को विश्वास में लिए बिना बल्कि कांग्रेस को दरकिनार कर पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस के साथ गठबंधन कर लिया. जिसके बाद से कांग्रेस का प्रदेश खेमा बेहद नाराज है. चर्चा यह भी है कि कांग्रेस का प्रदेश नेतृत्व अब इस मसले पर राजद के साथ आमने-सामने बातचीत की तैयारी कर रहा है.

इन्हें भी पढ़े: नीतीश ने पूरा किया चुनावी वादा, सभी बिहारवासियों फ्री लगेगी वैक्सीन

असल में कांग्रेस की नाराजगी की वजह बिल्कुल साफ है. कांग्रेस पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) और भाजपा (BJP) को पांव पसारने से रोकने की कोशिश में जुटी है. कांग्रेस बिहार की तरह बंगाल में भी भाजपा के रथ को रोकने के लिए तमाम सेक्युलर दलों को एक मंच पर लाना चाहती है.

इन्हें भी पढ़े: बिहार के इस गांव में 87 साल के बाद पहुंची ट्रेन तो लोगों ने की पूजा, इंजन देखने जुट गई भीड़

पर उसकी सोच के विपरीत बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने सोमवार को तृणमूल प्रमुख ममता बनर्जी से मुलाकात की. यही नहीं, तेजस्वी ने कोलकाता और इसके आपपास के उप नगरीय क्षेत्रों में बसे बिहारियों से अपील भी कर दी कि वे ममता बनर्जी के पक्ष में मतदान करें. तेजस्वी के इस कदम ने कांग्रेस की रणनीति पर पानी तो फेरा ही उसकी पेशानी पर बल भी ला दिया है.

बिहार में कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजीत शर्मा कहते हैं कि हमारे प्रयास शुरू से थे कि बिहार की तरह सेक्युलर पार्टियां पश्चिम बंगाल में एक छतरी के नीचे आकर भाजपा-ममता को रोकें. क्योंकि इनके खिलाफ काफी आक्रोश है. परंतु राजद नेतृत्व ने इस मसले पर बिना कांग्रेस से कोई बात किए अपना फैसला ले लिया. शर्मा कहते हैं राजद का यह कदम अप्रत्याशित है. इस मसले पर राजद नेतृत्व से जल्द ही बात होगी.

Mints of India an Indian E-Media Website. Here We Provide Latest Breaking News Related to Political News in Hindi with All Types of News.
x