पुलवामा आतंकी हमले की दूसरी बरसी आज, सीआरपीएफ के 40 जवान हुए थे शहीद

दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आत्मघाती हमले की आज दूसरी बरसी है. सीआरपीएफ के लेथपोरा कैंप स्थित स्मारक पर आतंकी हमले में शहीद होने वाले चालीस जवानों को श्रद्धांजलि दी जाएगी. बीते वर्ष महाराष्ट्र के उमेश गोपीनाथ जाधव पुष्पांजलि समारोह के विशिष्ट अतिथि थे. हमले में शहीद होने वाले चालीस जवानों के परिवारों
 
पुलवामा आतंकी हमले की दूसरी बरसी आज, सीआरपीएफ के 40 जवान हुए थे शहीद

दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आत्मघाती हमले की आज दूसरी बरसी है. सीआरपीएफ के लेथपोरा कैंप स्थित स्मारक पर आतंकी हमले में शहीद होने वाले चालीस जवानों को श्रद्धांजलि दी जाएगी. बीते वर्ष महाराष्ट्र के उमेश गोपीनाथ जाधव पुष्पांजलि समारोह के विशिष्ट अतिथि थे.

हमले में शहीद होने वाले चालीस जवानों के परिवारों से मिलने के लिए उन्होंने 61000 किलोमीटर लंबी यात्रा की थी. साथ ही उन्होंने सभी शहीद जवानों के घरों, श्मशान घाटों और बनाए गए स्मारकों के पास से मिट्टी को इकट्ठा किया और यहां लेकर पहुंचे थे.

स्मारक उस जगह से थोड़ी दूरी पर स्थित सीआरपीएफ कैंप के अंदर स्थापित किया गया है, जहां जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी आदिल अहमद डार ने विस्फोटक से भरी कार सुरक्षाबलों के काफिले से टकराकर खुद को उड़ा लिया था. स्मारक पर उन सभी 40 जवानों की तस्वीरों के साथ उनके नाम और सीआरपीएफ का ध्येय वाक्य सेवा और निष्ठा भी अंकित किया गया है.

From Around the web