महाराष्ट्र के कॉपरेटिव बैंक चुनाव में BJP का खेला, शिवसेना-NCP को झटका, मंत्री भी हारे

  
ncp shiv sena vs bjp
फेसबुक पर ताजा खबरे पाने के लिए लाइक बटन दबाये!
 

ब्रेकिंग न्यूज़ डेस्क: बड़ी खबर आ रही है महाराष्ट्र से, जहाँ महाराष्ट्र में BJP ने खेला कर दिया है. महाराष्ट्र के सतारा में जिला कॉपरेटिव बैंक के चुनाव में सत्ताधारी गठबंधन को हार का सामना करना पड़ा है. यही नहीं इससे गुस्साए एनसीपी विधायक शशिकांत शिंदे के समर्थकों ने पार्टी के दफ्तर पर पत्थरबाजी की है. शिंदे बैंक के निदेशक के चुनाव के लिए मैदान में उतरे थे, लेकिन हार का सामना करना पड़ा.

Read - मांसपेशियों में खिंचाव के चलते टेस्ट सीरीज से बाहर हुए केएल राहुल, सूर्यकुमार टीम में शामिल

शिंदे को एनसीपी के ही बागी नेता दयानदेव रंजने ने महज एक वोट से शिकस्त दे दी. बागी नेता के हाथों पार्टी विधायक की हार से कार्यकर्ताओं का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने एनसीपी के दफ्तर में पत्थरबाजी कर दी. शिंदे की हार की खबर मिलते ही कार्यकर्ता दफ्तर में जुटने लगे और उपद्रव मचा दिया.

Read - गलवन घाटी में शहीद हुए कर्नल संतोष बाबू को महावीर चक्र से मरणोपरांत किया गया सम्मानित

इस चुनाव में भाजपा को बड़ी सफलता मिली है, जिसने एनसीपी के बागी रांजने को समर्थन दिया था. रांजने ने जीत के बाद भाजपा के विधायक शिवेंद्र राजे भोसले का धन्यवाद दिया है, जिन्होंने इस चुनाव में उनका समर्थन किया था. सहकारी बैंकों के चुनाव को महाराष्ट्र में काफी अहम माना जाता है क्योंकि राज्य में सहकारी शुगर मिलों की फंडिंग में इनकी बड़ी भूमिका होती है.

Read - बिहार को मिलेगी चौथे एक्सप्रेस-वे की सौगात, इन 10 जिलों को होगा फायदा

इसी चुनाव में शिवसेना के नेता और गृह राज्य मंत्री शंभूराजे देसाई को भी हार झेलनी पड़ी है. देसाई को पूर्व मंत्री विक्रमसिंह पाटनकर के बेटे सत्यजीत पाटनकर ने मात दी है. सतारा के एसपी अजय कुमार शिंदे ने कहा कि उपद्रव मचाने वाले एनसीपी के 7 से 8 कार्यकर्ताओं को हिरासत में भी लिया गया था. इसके अलावा खुद शशिकांत शिंदे ने एनसीपी और पार्टी मुखिया शरद पवार से माफी मांगी है.

From Around the web