ओमिक्रॉन ने उड़ाई सरकार की नींद, PM की बैठक! केजरीवाल जारी करेंगे नई गाइडलाइन्स

  
PM Modi Omicrone Corona
फेसबुक पर ताजा खबरे पाने के लिए लाइक बटन दबाये!

कोविड-19 न्यूज़ डेस्क - बड़ी खबर आ रही है अपने ही देश भारत से, जहाँ कोरोना ने नये वैरिएंट ओमिक्रोन ने देश के साथ साथ भारत और राज्य सरकार की जींद उड़ा दी है. पिछले कुछ ही दिनों ने देखते देखते मुंबई समेत पुरे देश के अनेको राज्यों में ओमिक्रोन ने अपनी दस्तख दे दी है. और देश में कोविड-19 के ओमिक्रॉन वेरिएंट की रफ्तार ने सरकार की नींद उड़ा दी है.

इस वेरिएंट के बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार यानी आज एक अहम समीक्षा बैठक करेंगे. इसमें केंद्र सरकार के शीर्ष अधिकारी शामिल होंगे. बैठक में ओमिक्रॉन वेरिएंट के संक्रमण को रोकने के लिए एहतियाती कदम उठाने के साथ किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयारियों पर चर्चा होने की उम्मीद है.

इससे पहले प्रधानमंत्री ने नवंबर के आखिरी सप्ताह में भी ओमिक्रॉन वेरिएंट को लेकर समीक्षा बैठक की थी. संसद के शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले भी प्रधानमंत्री ने लोगों से अलर्ट रहने की अपील की थी. इस दौरान उन्होंने लोगों को मार्च 2022 तक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का विस्तार करने का ऐलान किया था.

ओमिक्रॉन वेरिएंट पर चिंता जताते हुए प्रधानमंत्री ने अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर प्रतिबंधों को कम करने की योजना की समीक्षा करने के लिए कहा था. इसके साथ प्रधानमंत्री ने अधिकारियों से नए वेरिएंट को लेकर सक्रिय रहने के हिदायत दी थी. ताकि, ओमिक्रॉन वेरिएंट पर नजर रखी जा सके. इस बीच, देश में ओमिक्रॉन वेरिएंट के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र ने राज्यों को एडवाइजरी जारी कर एहतियाती कदम उठाने की अपील की है. 

इधर दिल्ली में ओमिक्रॉन मामलों की संख्या में बढ़ोतरी के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी आज कोरोना वायरस के इस नए प्रकार के संबंध में तैयारियों व प्रबंधन का आकलन करने के लिए एक समीक्षा बैठक करेंगे. देश में ओमिक्रॉन के सबसे अधिक 57 मामले दिल्ली में सामने आए हैं.

इसके बाद महाराष्ट्र  में 54, तेलंगाना में 24, कर्नाटक में 19, राजस्थान में 18, केरल में 15 और गुजरात में 14 मामले सामने आए हैं. कैबिनेट मंत्रियों और अधिकारियों के साथ होने वाली केजरीवाल की इस बैठक में कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर और वायरस के ओमिक्रॉन स्वरूप के बारे में तैयारियों पर चर्चा होने की संभावना है.  इसके अलावा बैठक में अस्पताल में बिस्तरों, दवाओं और गृह पृथक वास उपायों पर भी चर्चा हो सकती है.

From Around the web