यूपी: चुनाव से पहले अखिलेश ने जिन्ना की तुलना गाँधी, नेहरु और पटेल से की: बीजेपी बोली माफ़ी मांगे अखिलेश

  
वैक्सीन पर बवाल करने वाले अखिलेश यादव बोले: हम भी भारत सरकार का टीका लगवाएंगे
फेसबुक पर ताजा खबरे पाने के लिए लाइक बटन दबाये!

यूपी चुनाव न्यूज़ डेस्क: खबर आ रही उत्तरप्रदेश से, जहाँ अब यूपी चुनाव में कुछ ही महीनो का समय रह गया है. और ऐसे में अब सभी राजनितिक पार्टिया अपनी एड़ी चोटी की जोड़ लगा रही है. वही अखिलेश यादव का एक विवादित बयान सामने आया है. यूपी में चुनाव करीब आते ही जिन्ना का जिन फिर बोतल से बाहर निकल आया है.

यूपी के हरदोई में समाजवादी विजय रथ लेकर पहुंचे अखिलेश यादव ने सरदार पटेल की जयंती के बहाने मोहम्मद अली जिन्ना का खूब गुणगान किया. कहा कि जिन्ना आजादी के नायक थे. यूपी चुनाव से पहले अखिलेश यादव के इस बयान ने बीजेपी को बैठे बिठाए नया मुद्दा दे दिया.

पढ़े - दिवाली से पहले फूटा महंगाई बम, एलपीजी सिलेंडर 265 रुपये हुआ महंगा, लेकिन इनको रहत

वही यूपी बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने अखिलेश का भाषण ट्वीट कर पूछा कि सरदार पटेल जी की जयंती पर अखिलेश यादव मोहम्मद अली जिन्ना का गुणगान क्यों कर रहे है? मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार के जल शक्ति मंत्री डॉक्टर महेंद्र सिंह ने भी वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया, 'सरदार वल्लभ भाई पटेल जी की जयंती के अवसर पर भी इनको अपने आदर्श जिन्‍ना याद आ ही गए.' 


वहीं बीजेपी के राज्‍यसभा सदस्‍य और उत्‍तर प्रदेश के पूर्व पुलिस महानिदेशक बृजलाल ने एक वीडियो जारी कर कहा, 'सपा मुखिया अखिलेश यादव ने लौह पुरुष की तुलना जिन्ना से की है, अखिलेश यादव को पहले इतिहास पढ़ लेना चाहिए. जिन्ना ने हजारों हिंदुओं का कत्लेआम कराया और वह देश के बंटवारे के जिम्मेदार हैं.

पढ़े - INDvsNZ: T20 वर्ल्ड कप में भारत को मिली फिर शर्मनाक हार: न्यूजीलैंड ने भारत को 33 गेंद रहते 8 विकेट से हराया

बीजेपी सांसद ने कहा अखिलेश यादव जी सरदार पटेल की जयंती के एक दिन पहले आपके पिता जी (मुलायम सिंह यादव) ने 30 अक्टूबर 1990 को अयोध्या में रामभक्तों पर गोली चलवाई थी, मां सरयू का आंचल लाल हो गया था. यादव को लक्ष्य कर उन्होंने कहा कि तुष्टिकरण में इतना नीचे मत गिरो.

अखिलेश यादव का पूरा बयान - अखिलेश यादव ने रविवार को हरदोई की एक जनसभा में मोहम्मद अली जिन्ना की, भारत की आजादी के लिए उनके योगदान की सराहना की थी. सपा प्रमुख ने कहा कि 'सरदार वल्लभ भाई पटेल, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और (मोहम्मद अली) जिन्ना ने एक ही संस्थान से पढ़ाई की और बैरिस्टर बने और उन्होंने आजादी दिलाई. उन्हें आजादी के लिए किसी भी तरीके से संघर्ष करना पड़ा होगा तो पीछे नहीं हटे.

From Around the web