लॉकडाउन के डर से दिल्ली, हरियाणा-देहरादून से बिहार लौटने लगे प्रवासी


ताजा खबर पाने के लिए निचे लाइक बटन दबाये

BIHAR DESK: मुम्बई सहित कई राज्यों में सख्ती के साथ बिहार में स्कूल-कॉलेज बंद होने की खबर के बाद दोबारा लॉक डाउन के डर बिहार लौटने लगे हैं प्रवासी. बोरे में कपड़े, झोले में जरूरत के सारे सामान और चेहरे पर हताशा लिये देहरादून में मजदूरी करने वाले मदन राम पूरे परिवार के साथ बस स्टैंड पहुंचे हैं.

शाम के छह बज रहे हैं. उन्हें मुजफ्फरपुर जाना है. मदन राम बताते हैं कि वह देहरादून में राजमिस्त्री का काम करते हैं. तीन बच्चों और पत्नी के साथ देहरादून में रह रहे थे. पिछले साल लॉक डाउन खत्म होने के बाद नवम्बर में देहरादून गये थे. सोचा था कि अब जिन्दगी पटरी पर लौट आएगी. लेकिन जैसे ही होली का समय आया, दोबारा कोरोना संक्रमण की लहर से वे सहम गये.

Lockdown Migrate

उनके साथ मुजफ्फरपुर के ही लगभग चार परिवार और बस स्टैंड पहुंचे थे. धीरे-धीरे यह संख्या बढ़ती ही जा रही है. राजधानी के मीठापुर बस स्टैंड में बाहर से आने वाले यात्रियों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है. शाम होने के बावजूद कई लोग निजी वाहन बुक करके घर को जाते दिख रहे हैं. इसके बावजूद बस स्टैंड में कोरोना से लड़ने का कोई इंतजाम नहीं दिख रहा है. न तो कोई स्क्रीनिंग की व्यवस्था है और न मास्क चेक करने की.

हरियाणा के एक निजी कंपनी में काम करने वाले मनोज भी सोमवार को ट्रेन से पटना पहुंचे. पूर्णिया जाने के लिए वह बस स्टैंड आए हुए थे. मनोज बताते हैं कि अभी तो जिन्दगी ने रफ्तार पकड़नी शुरू की थी, फिर से कोरोना डराने लगा है. लॉकडाउन के डर से परिवार वालों ने घर लौटने को कहा. उनके पास घर लौटने को पैसे भी नहीं थे. मजबूरी में दोस्तों से कर्ज लेकर ट्रेन पकड़े. दिल्ली विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले दीपक भी घर लौट गये हैं. उन्हें मोतिहारी जाना है.

Mints of India an Indian E-Media Website. Here We Provide Latest Breaking News Related to Political News in Hindi with All Types of News.
x