#Patna: MLC चुनाव को लेकर RJD में खेल, तेजप्रताप यादव जायेंगे परिषद, मुंबई से लैंड कर रहे शेख साहब को मिलेगा मौका, जगदा बाबू का पत्ता साफ !

Loading...
Mints of India Google News

बिहार विधान परिषद के 9 सीटों के लिए हो रहे चुनाव में RJD में कई तरह की खेल की चर्चायें सियासी गलियारे में आम हैं| पार्टी से जुड़े उच्च स्तरीय सूत्र बता रहे हैं कि लालू-राबड़ी के बेटे तेजप्रताप यादव का विधान परिषद जाना तय हो गया है| मुंबई से पॉराशूट लैंडिंग करने वाले एक उम्मीदवार का नाम भी फाइनल है| चर्चा ये भी है कि कॉपरेटिव जगत के धनबली के तौर पर मशहूर नेता जी के सामने आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदा बाबू का भी पत्ता साफ हो गया है|

दरअसल विधानसभा कोटे से बिहार विधान परिषद की 9 सीटों पर चुनाव होना है| 18 जून से ही नामांकन की तिथि शुरू हो चुकी है| 25 जून नामांकन की आखिरी तारीख है| विधानसभा में विधायकों की मौजूदा संख्या के आधार पर आरजेडी को तीन सीटें मिलनी तय है| इन तीन सीटों के लिए जिन उम्मीदवारों के नाम की चर्चा है उस पर आरजेडी के कई नेता भी हैरान हैं|

तेजप्रताप यादव का विधान परिषद जाना तय!

लालू परिवार से जुड़े लोग बता रहे हैं कि लालू प्रसाद यादव खुद तेजप्रताप यादव को विधान परिषद भेजना चाह रहे हैं| दरअसल तेज प्रताप यादव पिछली दफे वैशाली जिले के महुआ विधानसभा सीट से चुनाव जीते थे| पिछली बार नीतीश साथ थे लिहाजा तेजप्रताप आसानी से चुनाव जीत गये| लालू यादव को इस दफे उनकी जीत पर शंका है| लिहाजा वे तेजप्रताप यादव को विधान परिषद में सेट करना चाहते हैं| वहां पहले से ही उनकी मां राबडी देवी MLC हैं|

हालांकि परिवार में है विरोध!

हालांकि खबर ये भी है कि तेजप्रताप यादव को बिहार विधान परिषद में भेजने का परिवार के अंदर भी विरोध हो रहा है| लालू प्रसाद यादव ने फिलहाल उसका नोटिस नहीं लिया है| लेकिन बात बढ़ी तो लालू अपने फैसले पर पुनर्विचार भी कर सकते हैं|

मुंबई से लैंड करेंगे दूसरे उम्मीदवार!

उधर बिहार विधान परिषद चुनाव में आरजेडी के दूसरे कैंडिडेट को मुंबई से लैंड कराने की तैयारी है| चर्चा ये है कि मुंबई में कारोबार करने वाले फारूख शेख नाम के शख्स को आरजेडी अपना उम्मीदवार बनाने जा रही है| दरअसल इस सीट के लिए सैयद फैसली अली भी दावेदार थे| पिछले लोकसभा चुनाव में पार्टी ने उन्हें शिवहर से टिकट दिया था| लेकिन वे बुरी तरह हारे| फैसली अली को कुछ महीने पहले हुए राज्यसभा चुनाव में आरजेडी से सांसद चुने गये ‘नेताजी’ समर्थन हासिल था लेकिन वो काम नहीं आया| मैनेजमेंट में फारूख शेख भारी पड़े हैं|

जगदा बाबू भी पिछड़ गये!

आरजेडी के भीतर हो रही चर्चाओं के मुताबिक विधान परिषद चुनाव में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह भी दावेदार थे| लेकिन उनके सामने सहकारिता वाले धनबली आ गये| लालू फैमिली में सहकारिता वाले धनबली की धमक भारी पड़ी है| लिहाजा जगदा बाबू की दावेदारी किनारे लग गयी है| वैसे हमारे संवाददाता से बातचीत में जगदानंद सिंह ने कहा कि वे विधान परिषद चुनाव में दावेदार नहीं हैं|

अति पिछड़े को लेकर फंसा है पेंच!

आरजेडी के सूत्र बता रहे हैं कि ये तीनों नाम लगभग तय है| लेकिन पेंच अति पिछड़े तबके को नुमाइंदगी देने को लेकर फंसा है| दरअसल लालू प्रसाद यादव के करीबी उन्हें समझा रहे हैं कि बिहार विधान सभा का चुनाव सामने हैं| बिहार में अति पिछड़ों का वोट ही किसी पार्टी को सत्ता में पहुंचा सकता है| ऐसे में आरजेडी ने अगर किसी अति पिछड़े को विधान परिषद नहीं भेजा तो गलत मैसेज जा सकता है|

आरजेडी के नेता बता रहे हैं कि लालू यादव ने नाम तो तय कर लिये हैं लेकिन अभी उसे सार्वजनिक नहीं किया है| कल यानि सोमवार तक वे अपने उम्मीदवारों के नाम सार्वजनिक कर सकते हैं| उससे पहले वे सभी संभावनाओं को टटोल लेना चाहते हैं|

Mints of India an Indian E-Media Website. Here We Provide Latest Breaking News Related to Political News in Hindi with All Types of News.