शनिवार को न खरीदें ये 5 सामान, हो सकते हैं शनिदेव नाराज़

  
शनि अमावस्या पर शनि की साढ़ेसाती वालें करें यह उपाय
फेसबुक पर ताजा खबरे पाने के लिए लाइक बटन दबाये!

धार्मिक न्यूज़ डेस्क: सूर्यपुत्र शनिदेव को न्याय और दण्ड का देवता माना जाता है. भगवान शिव ने शनिदेव की तपस्या से प्रसन्न हो कर उन्हे देवातओं के दण्डाधिकारी का पद प्रदान किया था. इसलिए शनिदेव सभी देव-दानव और मनुष्यों को उनके कर्मों के आधार पर दण्ड प्रदान करते हैं. शनिदेव की इसी शक्ति के कारण मनुष्य क्या देवता भी उनसे भयभीत रहते हैं. शनिवार का दिन शनिदेव को समर्पित है, इस दिन शनिदेव का पूजन करने का विधान है. लेकिन इसके साथ ही शनिवार के दिन कुछ चीजें खरीदने से शनिदेव नाराज हो सकते हैं. आइए जानते हैं उन वस्तुओं के बारे में....

1. लोहे का सामान

लोहा धातु का संबंध शनिदेव से है. इसलिए शनिवार के दिन लोहा या लोहे से बने समान को खरीदना-बेचना शुभ नहीं माना जाता है. मान्यता है कि ऐसा करने से शनिदेव नाराज होते हैं और आप पर कर्ज का बोझ बढ़ने लगता है.

2. सरसों का तेल

शनिवार के दिन सरसों का तेल शनिदेव या पीपल के पेड़ पर चढ़ाने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं और अपनी कुद्ष्टि से मुक्ति प्रदान करते हैं. लेकिन शनिवार को सरसों का तेल खरीदना नहीं चाहिए, पहले खरीदे हुए तेल को ही चढ़ाएं.

3. नमक

शनिवार के दिन नमक खरीदने को शास्त्रों में रोगकारी माना गया है. इसलिए शनिवार के अलवा आप अन्य किसी भी दिन नमक खरीद सकते हैं.

4. जलने वाले पदार्थ

गैस, माचिस,कैरोसीन,पेट्रोल आदि जलने वाले पदार्थ शनिवार के दिन खरीदनें से बचना चाहिए. ऐसा करना घर में कलेश का कारण बनता है.

5. काले रंग का समान

काला रंग शनिदेव का प्रिय रंग है, उन्हें काले रंग के कपड़े ही चढ़ाए जाते हैं. लेकिन शनिवार के दिन काले रंग के कपड़े या अन्य सामान खरीदने से शनिदेव के कोप का भागी होना पड़ सकता है.

News Source - Jagaran

From Around the web