गुप्त नवरात्रि की नवमी आज, जानें महत्व, मान्यताएं व मंत्र

आज यानी 21 फरवरी 2021 को गुप्त नवरात्रि की नवमी तिथि है. गुप्त नवरात्रि की नवमी तिथि को मां मातंगी की विधि-विधान से पूजा-अर्चना की जाती है. शास्त्रों में मातंगी देवी को प्रकृति की स्वामिनी देवी बताया गया है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, मातंगी देवी को वचन, तंत्र और कला की देवी भी माना गया
  
गुप्त नवरात्रि की नवमी आज, जानें महत्व, मान्यताएं व मंत्र

आज यानी 21 फरवरी 2021 को गुप्त नवरात्रि की नवमी तिथि है. गुप्त नवरात्रि की नवमी तिथि को मां मातंगी की विधि-विधान से पूजा-अर्चना की जाती है. शास्त्रों में मातंगी देवी को प्रकृति की स्वामिनी देवी बताया गया है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, मातंगी देवी को वचन, तंत्र और कला की देवी भी माना गया है. कहा जाता है कि मां मातंगी को प्रसन्न करने के लिए व्रत नहीं रखा जाता है. यह केवल मन और वचन से ही तृप्त हो जाती हैं.

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, मातंगी मां को भगवान शिव की शक्ति माना जाता है. शास्त्रों में गृहस्थ जीवन को सुखमय, असुरों को मोहित करने और साधकों को मनवांछित फल देने वाली देवी बताया गया है. गुप्त नवरात्रि की नवमी तिथि को ‘ऊँ ह्नीं ऐ भगवती मतंगेश्वरी श्रीं स्वाहा:’ मंत्र का जाप कर मां दुर्गा को प्रसन्न किया जाता है. माता मातंगी को सुमुखी, लघुश्यामा या श्यामला, राज-मातंगी, कर्ण-मातंगी, चंड-मातंगी, वश्य-मातंगी, मातंगेश्वरी आदि नामों से भी जाना जाता है.


इन्हें भी पढ़े:


गुप्त नवरात्रि की नवमी आज, जानें महत्व, मान्यताएं व मंत्र

मां मातंगी का स्वरूप (Maa Maatangi Ka Swarup)

पौराणिक कथाओं के अनुसार, मां मातंगी गहरे नीले रंग की हैं. देवी मातंगी मस्तक पर अर्ध चंद्र धारण करती हैं. मां के एक हाथ में गुंजा के बीजों की माला हैं. देवी के दाएं हाथ में वीणा और कपाल है. बाएं हाथ में खड़ग है. देवी अभय मुद्रा में हैं. मां रत्नों के जड़े सिंहासन पर विराजमान हैं.

गुप्त नवरात्रि के दौरान करें ये उपाय (Gupt Navratri Ke Upay)

  1. गुप्‍त नवरात्रि में मां लक्ष्‍मी को प्रसन्‍न करने के लिए पूजा के दौरान कमल का फूल चढ़ाएं. अगर आपके पास कमल का फूल नहीं है तो गुप्‍त नवरात्रि में अपने घर कमल के फूल वाली कोई तस्वीर भी लगा सकते हैं. कहते हैं कि ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्‍न होती हैं.
  2. गुप्‍त नवरात्रि में धन और समृद्धि की प्राप्ति के लिए चांदी या सोने का सिक्‍का घर पर लाने से बरकत आती है. मान्यता है कि मां लक्ष्‍मी प्रसन्‍न होकर सभी मनोकामनाएं पूर्ण करती हैं.
  3. अगर आपके घर में कोई व्‍यक्ति काफी समय से बीमार है तो गुप्‍त नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा को लाल रंग के पुष्‍प अर्पित करें. इसके साथ ही ऊं क्रीं कालिकायै नम: मंत्र का जप करें. कहते हैं कि ऐसा करने मां लक्ष्मी का आशीर्वाद प्राप्त होता है.
  4. गुप्त नवरात्रि के दौरान कर्ज से भी मुक्ति पा सकते हैं. गुप्त नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा के समक्ष गुग्‍गल की सुगंध वाली धूप जलाएं. कहते हैं कि ऐसा करने से कर्ज से मुक्ति मिलती है.
  5. नवरात्र में मोरपंख को घर में लाना भी बहुत शुभ माना जाता है. मां लक्ष्‍मी की सवारी में से एक मोर भी होता है. मोर पंख को घर पर लाने से आपके घर में मां लक्ष्मी की कृपा भी आती है.

From Around the web