लॉकडाउन से बिहार में घट रहा कोरोना का संक्रमण दर! डॉक्टर बोले कड़ाई जरुरी

COVID-19 IN BIHAR NITISH KUMAR

ताजा खबर पाने के लिए निचे लाइक बटन दबाये

बिहार डेस्क: बिहार में लगाए गए लॉकडाउन ने लगातार कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार पर अब काबू करना शुरू कर दिया है। बिहार में कोरोना (Corona Cases In Bihar) के नए मरीज मिलने से लेकर रिकवरी रेट तक पर लॉकडाउन का असर साफ तौर से देखने को मिल रहा है। लगातार पांचवें दिन बिहार में संक्रमित मरीजों के आंकड़ों में कमी देखी गई तो वहीं मरीजों का रिकवरी रेट भी ऊपर उठा है।

पिछले 24 घन्टे में बिहार में 11 हजार 259 मरीजों में कोरोना की पुष्टि हुई है, लेकिन राज्य में एक्टिव केसेज में गिरावट आई है। बिहार में एक्टिव केस घटकर अब 110804 तक पहुंच गया है। सबसे अच्छी बात है कि 13364 लोग 24 घन्टे में स्वस्थ हुए और कोरोना को मात दिए हैं, वहीं रिकवरी रेट में भी काफी उछाल आया है। बिहार में कोरोना का रिकवरी रेट बढ़कर 80।71 प्रतिशत पहुंच गया है।

इसे भी पढ़ेकोरोना के कहर से थोड़ी राहत! 5 दिन बाद कोरोना के केस 4 लाख से कम, मौतें भी घटी

बिहार आईएमए के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ अजय कुमार भी मानते हैं कि महामारी जिस तरह से विकराल रूप ले चुका था समय पर सरकार ने आईएमए की पहल पर लॉकडाउन लगाया जिसका असर अब आंकड़ों पर पड़ रहा है और संक्रमण का चेन ब्रेक तेजी से हो रहा है।

इन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि 15 दिन लोग और धैर्य रखकर रहें और सावधानी पूरी तरह बरतें तो बिहार की हालत सामान्य हो सकती है। 24 घन्टे में राज्य में 10190 सैम्पल्स की जांच हुई है । बिहार की राजधानी पटना में एक्टिव केस की संख्या की बात करें तो एक्टिव केस 22589 हैं। पटना में लगातार 2000 से ज्यादा मरीज मिल रहे थे लेकिन रविवार को पटना में भी महज 1646 मरीज में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हुई।

Mints of India an Indian E-Media Website. Here We Provide Latest Breaking News Related to Political News in Hindi with All Types of News.
x