WHO बोला: ये आखिरी महामारी नहीं, अब कनाडा और स्वीडन में भी म्यूटेशन वाला वायरस मिला

who
Loading...
Mints of India Google News

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि कोरोना वायरस दुनिया में आने वाली आखिरी महामारी नहीं है. जलवायु परिवर्तन और पशु कल्याण से निपटे बिना ह्यूमन हेल्थ में सुधार की कोशिशें सफल नहीं हो सकती हैं. WHO चीफ टेड्रोस गेब्रयेसस ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सिर्फ पैसा बहाने से ही कुछ नहीं होगा. हमें भविष्य के लिए भी तैयारी करनी होगी.

उन्होंने कहा कि हम एक आपदा से निपटने के लिए पैसों का इस्तेमाल करते हैं और जब वह आपदा खत्म हो जाती है, तो हम उसे भूला देते हैं. भविष्य में ऐसी समस्याओं से बचने के लिए हम कदम उठाना बंद कर देते हैं.

वहीं, ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से संक्रमित मरीज दूसरे देशों में भी सामने आने लगे हैं. जापान और फ्रांस के बाद स्पेन, कनाडा और स्वीडन में भी इसके मामले मिले हैं. शनिवार को स्वीडन में इस नए स्ट्रेन का एक और कनाडा में दो मामले सामने आए. स्वीडन की हेल्थ एजेंसी ने बताया कि ब्रिटेन से लौटे एक पैसेंजर के बीमार पड़ने के बाद उसकी जांच कराई गई. जांच में कोरोना के नए रूप की पुष्टि हुई. वहीं, कनाडा में मिले दोनों मरीज हाल ही में ब्रिटेन से लौटे थे.


दुनिया में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 8.07 करोड़ के ज्यादा हो गया. 5 करोड़ 68 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं. अब तक 17 लाख 64 हजार से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं. ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं.

Mints of India an Indian E-Media Website. Here We Provide Latest Breaking News Related to Political News in Hindi with All Types of News.